Indian Railway : बुरी खबर, 50 रुपये तक बढ़ने वाला है इन ट्रेनों का किराया!

Spread the love

Indian Railway: रेलवे यात्रियों को बड़ा झटका लगने वाला है. भारतीय रेलवे डीजल इंजनों से चलने वाली ट्रेनों से लंबी दूरी की यात्रा करने वाले यात्रियों से अब ज्यादा किराया वसूलेगी. ये एक्स्ट्रा किराया 15 अप्रैल से लगेगा.

नई दिल्ली: डीजल इंजनों से चलने वाली ट्रेनों से लंबी दूरी की यात्रा करने वाले यात्रियों से अब अधिक किराया वसूला जा सकता है. ये अतिरिक्त किराया 15 अप्रैल से टिकट बुकिंग के समय रेल यात्रा में जुड़ जाएगा. दरअसल, रेलवे बोर्ड डीजल इंजनों से चलने वाली ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों पर 10 रुपये से 50 रुपये के बीच हाइड्रोकार्बन सरचार्ज (HCS) या डीजल टैक्स लगाने की योजना बना रहा है. यह सरचार्ज उन ट्रेनों पर लागू होगा जो डीजल इंजनों का इस्तेमाल कर आधी से ज्यादा दूरी तक चलेंगी. यह ईंधन आयात के प्रभाव को कम करने के लिए किया जा रहा है, जो तेल की बढ़ती लागत से गंभीर रूप से प्रभावित हुआ है.

50 रुपये तक बढ़ेगा किराया

AC क्लास के लिए 50 रुपये, स्लीपर क्लास के लिए 25 रुपये और जनरल क्लास के लिए न्यूनतम 10 रुपये फीस तीन कैटेगरी के तहत ली जाएगी. उपनगरीय रेल यात्रा टिकटों पर ऐसा कोई अधिभार नहीं लगाया जाएगा. रेलवे बोर्ड ने सभी जोनों को उन ट्रेनों की पहचान करने का निर्देश दिया है जो निर्धारित दूरी का 50 प्रतिशत डीजल से चलती हैं. इस सूची को हर तीन महीने में संशोधित किया जाना है. हालांकि 15 अप्रैल से पहले बुक किए गए टिकटों पर सरचार्ज लगाने के बारे में अभी कोई स्पष्टता नहीं है.

Also Read :

डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच लिया फैसला

रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे संघर्ष के साथ-साथ सऊदी अरब और यमन के बीच झड़प के कारण वैश्विक तेल की कीमतें वर्तमान में रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच चुकी हैं. भारत द्वारा रूस से रियायती कीमतों पर तेल आयात करने के बावजूद, आपूर्ति की कमी है. देश में ईंधन की कीमतों में लगातार 12 दिनों तक बढ़ोतरी के साथ उपभोक्ता ईंधन की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.