आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि यूपीआई के जरिए जल्द ही बैंकों, एटीएम से कार्डलेस कैश निकासी की सुविधा उपलब्ध होगी

Spread the love

आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति ने उधार दर, या रेपो दर को 4% पर रखा और अपने “समायोज्य” मौद्रिक नीति रुख को बनाए रखने के लिए मतदान किया।

नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मौद्रिक नीति की घोषणा करते समय UPI का उपयोग करने वाले सभी बैंकों और एटीएम के लिए कार्डलेस नकद निकासी का विकल्प उपलब्ध कराया जाएगा। फिलहाल कुछ ही बैंकों के पास विकल्प है।

दास के अनुसार, भारत बिल भुगतान प्रणाली संचालन इकाइयों के लिए शुद्ध मूल्य सीमा 100 करोड़ रुपये से घटाकर 25 करोड़ रुपये कर दी गई है।

Also Read : RBI Monetary Policy 10 हाइलाइट्स जिन्हें आपको जानना आवश्यक है

आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति ने उधार दर, या रेपो दर को 4% पर रखा और अपने “समायोज्य” मौद्रिक नीति रुख को बनाए रखने के लिए मतदान किया।

आरबीआई के शक्तिकांत दास के अनुसार, चालू खाता घाटा स्थायी स्तर पर है, और विदेशी भंडार $606.5 बिलियन है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.