आधार कार्ड डाउनलोड कैसे करें

Spread the love

आधार कार्ड को प्रिंट करने का तरीका

आधार को अधिक सुलभ बनाने के लिए, UIDAI ने आधार विवरणों के इलेक्ट्रॉनिक भण्डारण और पुनःप्राप्ति का इंतजाम किया है। ई-आधार के नाम से जाना जाने वाला यह कार्ड एक पीडीएफ फॉर्मेट में होता है और इसे UIDAI वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।

ई-आधार को निम्नलिखित में से किसी का भी इस्तेमाल करके ऑफिसियल UIDAI वेबसाइट के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है:

  • आधार नंबर
  • वर्चुअल आईडी (VID)
  • नामांकन आईडी (EID)

UIDAI वेबसाइट से अपने ई-आधार कार्ड को डाउनलोड/प्रिंट करने के तरीके के बारे में एक विस्तृत गाइड

आधार सम्बन्धी सेवाएं

आधार प्रक्रिया को अधिक पारदर्शी और सुव्यवस्थित बनाने के लिए, UIDAI ने आधार प्रक्रियाओं और विशेषताओं से संबंधित तरह-तरह की सेवाओं का इंतजाम किया है। इनमें से प्रत्येक सेवा का एक संक्षिप्त विवरण नीचे दिया गया है:

  1. आधार नंबर को वेरीफाई या सत्यापित करना

आवेदक निम्नलिखित तरीके से इस बात का सत्यापन कर सकते हैं कि उनका आधार कार्ड सक्रिय है या निष्क्रिय कर दिया गया है:

  • UIDAI वेबसाइट में जाएं और ‘My Aadhaar’ टैब पर क्लिक करें।
  • ‘Verify Aadhaar Number’ टैब पर क्लिक करें और अपने आधार नंबर के साथ-साथ सिक्योरिटी कैप्चा दर्ज करें।
  • स्क्रीन पर आपके आधार कार्ड की मौजूदा स्थिति दिखाई देने लगेगी।
  1. आधार के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल को वेरीफाई करें :

एक आधार कार्ड के लिए आवेदन करते समय एक ईमेल एड्रेस और मोबाइल नंबर का उल्लेख करना चाहिए क्योंकि इससे आगे चलकर सेवाओं से संबंधित अपडेट्स पाने में आसानी होती है। एक आवेदक होने के नाते, आपको दूर से ही अपने आधार से संबंधित जानकारी या अतिरिक्त विशेषताओं के बारे में नोटिफिकेशन भी मिल सकता है। अपने आधार के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल एड्रेस को वेरीफाई करने के लिए यहाँ दिए गए स्टेप्स को फोलो करें।

  1. अपने आधार नंबर को पुनःप्राप्त करना :

यदि आपका आधार कार्ड -उधर या गुम हो गया है तो चिंता न करें क्योंकि UIDAI ने इसे फिर से प्राप्त करने की प्रक्रिया को आसान बना दिया है। आप नीचे बताए गए स्टेप्स को फोलो करके इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से अपने आधार कार्ड, VID या EID को फिर से हासिल कर सकते हैं।

यहाँ इस बात पर ध्यान देना जरूरी है कि आधार सम्बन्धी जानकारी को फिर से हासिल करने के लिए एक रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर का होना जरूरी है।

  1. आधार लिंकिंग का स्टेटस चेक करना :

अधिकांश सरकारी सब्सिडी और योजनाओं का लाभ उठाने के लिए, सब्सिडी का पैसा पाने के लिए आवेदकों को अपने आधार कार्ड को अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना पड़ता है। आप नीचे बताए गए अनुसार लिंकिंग प्रक्रिया की मौजूदा स्थिति की जांच कर सकते हैं:

  • ऑफिसियल UIDAI वेबसाइट में, ‘My Aadhaar’ टैब पर जाएं और ‘Aadhaar Services’ टैब का चयन करें।
  • अपना आधार / VID नंबर और सिक्योरिटी कोड दर्ज करें।
  • आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक OTP भेजा जाएगा, जिसे दर्ज करने पर स्क्रीन पर आधार लिंकिंग की मौजूदा स्थिति दिखाई देने लगेगी।
  1. वर्चुअल आईडी (VID) जेनरेट करना:

डेटा की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए और आधार के तहत दी गई जानकारी को सुरक्षित करने के लिए, UIDAI ने VID की शुरुआत की है। इससे तरह-तरह की सेवाओं के लिए आधार सम्बन्धी जानकारी मांगने वाले वेंडर्स/मर्चेंट्स को सीमित केवाईसी (नो योर कस्टमर यानी अपने ग्राहक को जानें) तक पहुँच की सुविधा मिलती है।

  1. अपने बायोमेट्रिक्स को लॉक /अनलॉक करना:

आपके आधार कार्ड में जनसांख्यिकीय के साथ-साथ बायोमेट्रिक डेटा भी होता है जिसका इस्तेमाल तरह-तरह की सेवाओं का लाभ उठाते समय आपकी पहचान को प्रमाणित करने के लिए किया जाता है। वेरिफिकेशन के लिए एक वेंडर/मर्चेंट के साथ अपने आधार से संबंधित जानकारी शेयर करते समय, इस जानकारी का गलत इस्तेमाल करने की सम्भावना रहती है। इस डेटा की सुरक्षा को बनाए रखने के लिए, UIDAI, आधार कार्ड धारकों को अपनी बायोमेट्रिक जानकारी के एक्सेस को लॉक करने की इजाजत देता है। इसे कार्ड धारक की अनुमति पर ही अनलॉक किया जा सकता है।

  1. ऑथेंटिकेशन सम्बन्धी इतिहास की जांच करना :

आप जब-जब किसी उद्देश्य के लिए अपने आधार कार्ड से संबंधित जानकारी देते हैं, तब-तब इस जानकारी को एक्सेस करने वाली ऑथराइज्ड यूजर एजेंसियों (AUA) का विवरण, आधार सिस्टम में दर्ज हो जाता है। आप अपने ऑथेंटिकेशन इतिहास की जांच कर सकते हैं जिसमें AUA और उनके द्वारा एक्सेस की गई जानकारी सूचीबद्ध रहती है। इस प्रक्रिया के कारण आप इस बात का सत्यापन कर सकते हैं कि आपके आधार डेटा को किसने एक्सेस किया है। यह सुविधा ख़ास तौर पर उस समय काफी मददगार साबित होती है जब अपनी जानकारी की सुरक्षा को मैनेज करने की बात आती है।

  1. आधार का ऑफलाइन वेरिफिकेशन :

आधार पेपरलेस ई-केवाईसी एक शेयर करने लायक और सुरक्षित दस्तावेज है जिसका इस्तेमाल ऑफलाइन तरीके से आधार सम्बन्धी पहचान का सत्यापन करने के लिए किया जा सकता है। एक आधार कार्ड धारक होने के नाते, आप वेंडर्स/सेवा प्रदाताओं को एक सुरक्षित और छेड़छाड़-रहित फॉर्मेट में पहचान और पता सम्बन्धी जानकारी का प्रमाण शेयर कर सकते हैं।

निम्नलिखित तरीके से आधार पेपरलेस ऑफलाइन ई-केवाईसी किया जा सकता है:

  • UIDAI वेबसाइट में जाएं और ‘My Services’ टैब पर क्लिक करें।
  • ‘Aadhaar Services’ टैब के तहत ‘Aadhaar Paperless Offline e-KYC’ पर क्लिक करें।
  • अपना आधार नंबर और सिक्योरिटी कोड दर्ज करें जिसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा।
  • उस OTP को दर्ज करने के बाद उसका सफलतापूर्वक सत्यापन होने के बाद, एक डाउनलोड करने लायक XML फ़ाइल उपलब्ध हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.