वोटर लिस्ट में अपना नाम कैसे चेक करें, अधिक जानकारी के लिए SMS व हेल्पलाइन नंबर

Spread the love

हर साल चुनाव के दौरान लोग वोटर लिस्ट में अपना नाम चेक करने के लिए दर-दर भटकते हैं। बहुत से लोग चुनाव के समय वोटर आईडी के लिए आवेदन करते हैं। इससे चुनाव का समय काफी अस्त-व्यस्त हो जाता है। लेकिन क्या होगा अगर हमने आपसे कहा कि आपको हर चीज के लिए चुनावी कार्यालय नहीं जाना है? हाँ, आप इसे पढ़ें। ऐसे कई काम हैं जो आप ऑफिस चलाने के बजाय ऑनलाइन या अपने फोन के जरिए कर सकते हैं।

आप मतदाता पहचान पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं, जांच सकते हैं कि आपका नाम मतदाता सूची में है या नहीं, और कार्यालय में आए बिना अपने आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं। आप इंटरनेट का उपयोग करके यह सब और इससे भी अधिक कर सकते हैं।

एसएमएस द्वारा मतदाता सूची में नाम की जांच कैसे करें

शॉर्ट मैसेज सर्विस (एसएमएस) दुनिया भर में टेलीफोन नेटवर्क प्रदाताओं द्वारा प्रदान की जाने वाली एक टेक्स्ट मैसेजिंग सेवा है। किसी भी बेसिक फोन में यह फीचर होता है। यह जांचने का सबसे आसान और कम समय लेने वाला तरीका है कि आपका नाम चुनावी सूची में मौजूद है या नहीं।

  • सबसे पहले, यदि आपने वोटर आईडी कार्ड के लिए आवेदन किया है, तो आपको अपना आवेदन नंबर दिया जाएगा।
  • एक एसएमएस “ईपीआईसी” स्पेस वोटर आईडी एप्लीकेशन नंबर टाइप करें और इसे 1950 पर भेजें।
  • एक बार जब आप एसएमएस भेज देते हैं, तो आपको अपने आवेदन की स्थिति के बारे में एक उत्तर प्राप्त होगा।

हेल्पलाइन नंबर का उपयोग करके मतदाता सूची में नाम कैसे जांचें

मतदाता को समय पर आवश्यक जानकारी प्राप्त करने में मदद करने के लिए भारत के चुनाव आयोग ने एक मुफ्त हेल्पलाइन नंबर पेश किया। टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर 1950 है। देश भर के लोग इस नंबर पर कॉल कर सकते हैं और वे अपने कण राज्य में एक प्रतिनिधि से जुड़े रहेंगे जो किसी भी आवश्यक जानकारी के साथ कॉलर की मदद करेगा। लोग शिकायत दर्ज कराने के लिए भी इस हेल्पलाइन का उपयोग कर सकते हैं। की गई कॉलों का खर्च संबंधित राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा वहन किया जाएगा।

साथ ही दिव्यांगों के लिए चुनाव आयोग एक एसएमएस सेवा लेकर आया है। उन्हें सहायता प्राप्त करने के लिए प्रतीक सितारा (*) और उसके बाद अपना वोटर आईडी नंबर दर्ज करना होगा। यह सेवा किसी विशेष स्थान पर हमारे पास मौजूद दिव्यांग मतदाताओं की संख्या को भी रिकॉर्ड करती है। यदि कोई व्यक्ति प्रतीक चिन्ह के बिना एसएमएस भेजता है, तो एक उत्तर एसएमएस भेजा जाएगा जिसमें निकटतम मतदान केंद्र का विवरण होगा जहां मतदाता पंजीकृत है।

जहां भारत निर्वाचन आयोग और सरकार मिलकर मतदान प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए बहुत सारी सुविधाएं ला रहे हैं, वहीं हमारा काम है कि हम आगे बढ़ें और अपना वोट डालें। क्या आपने अभी तक अपने वोटर आईडी कार्ड के लिए आवेदन नहीं किया है? आगे बढ़ें और इंटरनेट का लाभ उठाएं और कुछ ही सेकंड में अपने वोटर आईडी कार्ड के लिए आवेदन करें और अपने वोटों की गिनती करें! या, अपने क्षेत्र में चुनाव कार्ड के लिए कैसे आगे बढ़ें या कहां आवेदन करें, यह जानने के लिए केवल एसएमएस और हेल्पलाइन सेवा का उपयोग करें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.